Mother’s Day Poem l माँ🤱

Mother's Day Poem l माँ

Mother’s Day Poem

कष्ट और पीड़ा को सहकर,
मेरे नवजीवन का तुमने निर्माण किया,
सहस्त्र वर्षों के पुण्य का ही ये परिणाम है ।

तुम ईश्वर की सबसे सुंदर श्रेष्ठ रचना हो माँ,
तुममे दुनिया ये पूर्ण समाया है ,
रक्त कणों से तेरे माँ , एक अंश नया आया है ।

प्रेम ,दया और ममता की
तुम कितनी सुखद सुंदर कल्पना हो ,
धन्य हो ईश्वर का जिसने ,
माँ को धरती पर लाया है ।

कोई मोल नही तुम्हारे प्रेम का माँ ,
ऐसा सुखद स्वप्न तुमने साकार कराया है,
तेरी संतान पर आये आँच अगर,
तो तेरा हृदय भाव विभोर हो आया है।

न जाने कितने बलिदान तुमने दिये होंगे,
और फिर गमों को खुदमे समेटकर ,
कितने ही मेँहंगे उपहार मुझे दिये होंगे ।

तुम्हारे ध्येय की शक्ति का न कोई सार है
करुणा ,ममता, धीरज का तुम्मे भाव है
प्रतिरूप हो तुम माँ अंबे माँ का
तुम्हारे भीतर वेदना अपार है।

मेरा जीवन तुमसे शुरू होना
सहस्त्र वर्षों के पुण्य का ही परिणाम है।

MOTHER’S DAY POETRY IN HINDI । MAA
kasht Aur pida ko sehkar,
Mere navjeevan Kaa Tumne nirmaan Kiya,
Sahastra varshon ke Punya
kaa hi parinaam hai.

Tum Ishwar ki sabse sundar shresth Rachna Ho MAA,
Tumme duniya ye puran samaya Hai,
Rakkt kadon Se Tere Maa Ek Ansh naya Aaya Hai.

Pream,daya aur mamata ki tum
Kitni sukhad-sunder Kalpana hop,
Dhanya ho ishawar jisne,
MAA ko dharti par laya Hai.

Koi Mol Nahin Tumhare Prem Ka Maa,
Aisa sukhada-Swapna Tumne Sakar karaya hai,
teri Santan par Aaye Aanch agar
to Tera Hriday Bhav-Vibhor Ho Aaya Hai.

Na Jane kitne Balidaan Tumne Diye Honge,
aur fir gamon ko Khud Mein sametKar,
kitne hi mahange Uphaar Mujhe Diye Honge.

Tumhare dhyey ki Shakti Ka Na Koi Saar Hai,
Karunaa,Mamtaa,Dhiraj ka tummein Bhav hai, pratiroop ho tum maa Ambe ka,
Tumhare bhitar Vedna Apaar Hai,
Mera Jivan Tumse Shuru Hona Sahatr varshon ke Punya kaa hi yah parinaam hai.

Mother’s Day Poem in Hindi👇
Mother’s Day Poetry l माँ-ममता की मूरत

close

🤞 Don’t miss our new post!

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.

5 thoughts on “Mother’s Day Poem l माँ🤱”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

Motivational Poetry

Amazing Motivational Poetry In Hindi । अभिमान हो तुमAmazing Motivational Poetry In Hindi । अभिमान हो तुम

Motivational Poetry के अंतर्गत अभिमान हो तुम शब्द से तात्पर्य अपनी अंर्तआत्मा से है,हमारी अंर्तआत्मा को प्रेरित करने के उद्देश्य से यह कविता लिखी गई है। (motivational poem in Hindi)

Poem on women empowerment

Poem on women empowerment ।अब लौह बनकर निकलूंगी🔥Poem on women empowerment ।अब लौह बनकर निकलूंगी🔥

Poem on women empowerment जलती रही तेरे झूठे अभिमान के अंगारों में, अब लौह बनकर निकलूंगी, जो छुआ तूने मुझे तो सबसे बुरा तेरा हश्न करूंगी। बहुत गुरूर है तुझे