Best Poetry On Women । मैं खड़ी हूं बाजार में

Poetry on women

Poetry on women in Hindi

मैं खड़ी हूं बाजार में खुदको तौलने,
कभी रिश्तों में,कभी मर्यादाओं में,
कभी तेरे प्यार की आकांक्षाओं में ।

कि तुम यहां मेरे रंग रूप को देखते हो।
क्या मोल रह गया है मेरे
और कौड़ियों के भावो में।
कभी बत्तचलन तो कभी बाँझ पुकारा जाता है,
यही इतिहास युगो युगो से चला आता है।
मैं खड़ी हूं बाजार में खुदको तौलने….

कभी जुए में हारा जाता है मुझे,
कभी दहेज की आग में तो कभी,
तेरे इश्क के तेजाब में झोंकी जाती हूं मैं।
और फिर अबला कहकर समाज की इज्जत
बचाने के लिए रोकी जाती हूं मैं।
मैं खड़ी हूं बाजार में खुदको तौलने….

मैं खड़ी हूं बाजार में खुदको तौलने,
कभी रिश्तों में कभी मर्यादाओं में,
कभी तेरे प्यार की आकांक्षाओं में ।

POETRY ON WOMEN । MAIN KHADI HOON BAAJAAR MAEIN KHUDKO TAULNE

Main khadi hoon baajaar mein khudko taulne,
Kabhi rishton mein, kabhi maryaadaon mein,
Kabhi tere pyaar ki aakaankshaon mein…..

Ki tum yahaan mere rang-roop
ko dekhate ho,
Kya mole rah gaya hai mere,
Aur kaudiyon ke bhaavon mein,
Kabhee battchalan to kabhee baanjh pukaara jaata hai,
Yahi itihaas yugo yugo se chala aata hai,
Main khadi hoon baajaar mein khudako taulane…..

Kabhi jue mein haara jaata hai mujhe,
Kabhi dahej ki aag mein toh kabhi,
Tere ishq ke tejaab mein jhonki jaati hoon main.
Aur phir abala kahkar saamaj ki izzat,
Bachaane ke liye roki jaati hoon main,
Main khadi hoon baajaar mein khudako taulane…..

Main khadi hoon baajaar mein khudko taulane,
Kabhi rishton mein, kabhi maryaadaon mein,
Kabhi tere pyaar ki aakaankshaon mein…..

Poetry on women 👇
Beti par kavita हक देती नहीं मैं
Best poem in Hindi l ऐ वतन तुझसे नाराज है मेरा दिल♥️
Women Poetry l तेजाब एक प्रतिशोध

10 thoughts on “Best Poetry On Women । मैं खड़ी हूं बाजार में”

  1. Sangeeta says:

    Awesome❤️

  2. Pragati Verma says:

    👍👍❤️

  3. M.k.verma says:

    👏🏻👏🏻

  4. Jai kishan says:

    Bahut hi khubsurat poem I love it

  5. Eshita says:

    Acha likhte ho 👍💐

  6. Sana Khan says:

    Aap ka Naam Jan skte hai kya😀Etna acha likhte ho🙏

  7. Swati Yadav says:

    Heart touching💟poetry✍

  8. Nidhi Singh says:

    Heart touching 👌

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

Hindi motivational Poetry

Best Hindi Motivational Poetry l प्रगति हूं मैंBest Hindi Motivational Poetry l प्रगति हूं मैं

Hindi motivational Poetry निरंतर अविराम एक गति हूं मैं, तुम्हारी सफलता का एक महत्वपूर्ण हिस्सा प्रगति हूं मैं।🌷 उन्नति का क्रम हूँ मैं, बढ़ते विकास का सम हूं मैं। तुम्हारे

Motivational Poetry

Amazing Motivational Poetry In Hindi । अभिमान हो तुमAmazing Motivational Poetry In Hindi । अभिमान हो तुम

Motivational Poetry के अंतर्गत अभिमान हो तुम शब्द से तात्पर्य अपनी अंर्तआत्मा से है,हमारी अंर्तआत्मा को प्रेरित करने के उद्देश्य से यह कविता लिखी गई है। (motivational poem in Hindi)